Site icon Trading With Manoj Shinde

Derivative Market Aasan Hai | Future and Option Contract Basic Knowlage India 2023

Derivative Market Aasan Hai | Future and Option Basic Knowlage India [2022]

 

Basic Knowlage of Derivative Market

 

 

 Derivative Market & Its Types – वायदा बाजार क्या है ?

 

 

डेरीवेटिव को एक उदाहरण से समज़ते है

 

 

 Derivative Market Structre

 

 

 

            forward contract and Future Contract difference and similarity 

      फॉरवर्ड कॉन्ट्रैक्ट और फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट अंतर और समानता

 

 

Use of Future Contract 

फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट का उपयोग 

 

Future Contract Structure 

डेरीवेटिव मार्केट में स्टॉक या इंडेक्स के एक ही समय पर तीन फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट खरेदी /बिक्री के लिए उपलब्ध होते है | जैसी की अगर ये जैनुअरी (January) महीना चल रहा है तो

 

Future Contract Expiry

हर महीने के आखरी गुरूवार (Thursday) को एक्सपायरी (Expiry)होती है , उसके बाद अप्रैल फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट खरेदी /बिक्री के लिए उपलब्ध होते है और जैनुअरी फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट का अवधि समाप्त होता है|

 

What Are the Benifits of Future Contract 

फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट के फायदे

 

 

What is an Option Contract ?

ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट क्या है ?

 

Option Contract –ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट

 

Option contract can be an Insurance for your stocks

अगर आपने SBI के स्टॉक ख़रीदे है , और कुछ न्यूज़ के वजह से आपको लगता है की थोड़े दिनों के लिए शेयर मार्केट निचे की तरफ जा सकता है , ऐसे समय आप अपने ख़रीदे हुवे स्टॉक का Insurance Option Contract से कर सकते है , मतलब SBI का Put Option खरीद सकते है ,
अगर आप सोचते है वैसे ही मार्केट निचे जाता है और आपके स्टॉक की प्राइस भी कम होती है , तो आपने ख़रीदे हुवे SBI Put Option Primium की प्राइस बढ़ेगी और आपको बहुत ही मामूली सा नुकसान हो सकता है या आप फायदे में भी आ सकते है | इसेही Portfolio hedging कहते है |

 

 

What are Types Of Option Contract – ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट के प्रकार

 

कॉल ऑप्शन – Call Option
टेक्निकल एनालिसिस से या आपकी ट्रेडिंग स्ट्रैटर्जी से आपको लगता है की स्टॉक या इंडेक्स की कीमत भविष्य में बढ़ने वाली है तो आप फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट खरीद सकते है या फिर कॉल ऑप्शन खरीदकर भविष्य में स्टॉक को ख़रीदनेके अधिकार (राइट टू बाय) को प्राप्त कर सकते है |

पुट ऑप्शन – Put Option
टेक्निकल एनालिसिस से या आपकी ट्रेडिंग स्ट्रैटर्जी से आपको लगता है की स्टॉक या इंडेक्स की कीमत भविष्य में घटने वाली है तो आप फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट बेच सकते है या फिर पुट ऑप्शन खरीदकर भविष्य में स्टॉक को बेचने के अधिकार (राइट टू बाय) को प्राप्त कर सकते है |

 

 

 

ये भी जरूर पढ़े

Stock Market to fulfill your Top 3 Dreams | शेयर मार्केट के लाभ

शेयर बाजार में ट्रेडिंग के लिए टॉप 10 चार्ट पैटर्न

Key Levels For Day Trading in Nifty Fifty | निफ़्टी डे ट्रेडिंग सेटअप

OPTION TRADING STRATEGY AND ITS TYPES FOR TRADING | ऑप्शन ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी

Exit mobile version