April 10, 2022

How to Learn Share Market in Hindi & Free India 2022 | Never Stop Learning

How to Learn Share Market in Hindi & Free India 2022 | Never Stop Learning

 

 

How to Learn Share Market Trading In Hindi And Free With Us

स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग सिखने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे | जल्द ही हम शेयर बाजार प्रशिक्षण सुरु कर रहे है |

Never stop learning

 

  • स्टॉक मार्केट बेसिक से सीखना बहुत जरुरी है , जैसे आपको पता है , अगर कोई इंजीनियर या डॉक्टर बनता है उसके पहले उसे कई साल उसकी पढाई में देने पड़ते है | फिर जाकर वह जॉब या बिज़नेस के लिए सक्षम बनता है , लेकिन बात यही पर ख़तम नहीं होती , उस फील्ड में उसे और स्किल बढ़ाना पड़ता है तब जाकर वह अच्छे पैसे कमा सकता है |
  • वैसे ही स्टॉक मार्केट में भी आपको कुछ समय पहले सिखने के लिए देना बहुत जरुरी है , जो पैसा आप बिना सीखे मार्केट में गवा रहे हो उसी पैसे से या उससे काम पैसो में आप हमारे साथ शिख सकते हो |
  • स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग सिखने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे | जल्द ही हम शेयर बाजार प्रशिक्षण सुरु कर रहे है |

 

आप हमारी वेबसाइट पर मुफ्त में भी सिख सकते है

 

  • Basic of Stock Market  – शेयर बाजार संरचना , शेयर मार्केट के लाभ  , शेयर बाजार में निवेश की मूल बातें
  • Learn trading   – कैंडलस्टिक पैटर्न , टॉप 10 चार्ट पैटर्न  ,शेयर बाजार की दिशा पहचान कर पैसे कमाने का सबसे अच्छा तरीका , टाइम फ्रेम और इसके उपयोग ,ट्रेडिंग स्टाइल ,सही तरीके से ट्रेडिंग कैसे शुरू करें |
  • Learn Opton Trading  – F&O (Futures and Options) क्या होता है  , ऑप्शन बाइंग  ,ऑप्शन सेलिंग ,  ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट के उपयोग ,ऑप्शन स्ट्रेटेजी
  • Daily Nifty and Bank nifty levels Updates  –  बैंक निफ़्टी, निफ़्टी के लेवल्स , सपोर्ट रेजिस्टेंस ,और ट्रेडिंग सेटअप , जिससे आप खुद ट्रेडिंग कर सकते है
  • Stock Review कोई भी स्टॉक खरीदने से पहले उसका चार्ट एनालिसिस कैसे करते है यहाँ आप को पूरी जानकारी मिलेगी , अगर आपको खुदके लिए आपको कोई भी स्टॉक का चार्ट स्टडी करके चाहिए तो वह भी हम आपको दे सकते है , उसके लिए आपको फेसबुक पेज को फॉलो करना होगा
  • Trading In Stock Market  – शेयर मार्केट की सबसे महत्वपुर्ण न्यूज़ यहाँ आप पढ़ सकते है

How and Where to Open Demat Account for Trading | All in One Demat Account

 

डीमैट खाता की जरुरत – Benefits of Demat Account

  • अगर आपको स्टॉक मार्किट , ईटीएफ, म्यूचुअल फंड और बॉन्ड , फ्यूचर एंड ऑप्शन , कमोडिटी सेगमेंट में इन्वेस्मेंट या ट्रेडिंग करना है तो आपको डीमैट खाते की जरुरत होती है |
  • किसी भी व्यक्ति के मैन्युअल हस्तक्षेप के बिना ही शेयरों का ट्रांसफर ऑटोमैटिक रूप से होता है।
  • इसके अलावा शेयर्स सर्टिफिकेट को कोई नुकसान या चोरी होने जैसे समस्या से निजात मिल गयी |
  • डीमैट खाता खोलने के लिए आपको एक ब्रोकर की जरुरत होती है जो SEBI के साथ रजिस्टर हो

Types Of stockbroker – ब्रोकर के प्रकार 

1. Full-service brokers  -फुल सर्विस ब्रोकर
फुल सर्विस ब्रोकर ग्राहकों को मार्गदर्शन और सलाह देती है कि आप अपना पैसा कैसे निवेश करें, कितना निवेश करें और कहां निवेश करें ,लेकिन उसके लिए कुछ चार्ज यानि भुगतान भी करना पड़ता है |

2.Discounted Stock Brokers -डिस्काउंट ब्रोकर 

अगर आपको ट्रेडिंग का पहले से ही अनुभव हैं , यानि आप ट्रेडिंग स्वयं कर रहे हैं, तो आप डिस्काउंट ब्रोकरेज खाते के साथ जा सकता है आपको खाली ट्रेडिंग चार्ज जो की न्यूनतम रखा जाता है और गोवेर्मेंट के टैक्स इतना ही देना होगा|

डीमैट खाता कैसे खोले 

  • डीमैट खाता खोलेने के लिए आपको भारत का नागरिकहोना जरुरी है , और आपकी उम्र 18 साल से ज्याद होनी चाहिए |
  • Identity proof  -पहचान प्रमाण , आइडेंटिटी प्रूफ यानि (PAN card) पैन कार्ड होना अनिवार्य है|
  • Address Proof – एड्रेस प्रूफ  – Passport ,Driving Licence ,Voter ID , Addhar Card इनमे से किसी एक का होना जरुरी है|
  • Income Proof  -इनकम प्रूफ – अगर आपको डेरीवेटिव या कमोडिटी सेगमेंट में ट्रेडिंग करना है तो आपको अपने बैंक खाते का पिछले छह महीने का स्टेटमेंट देना जरुरी है |
  • Bank Account Proof – बैंक अकाउंट प्रूफ के लिए आपको कैंसल चेक( Cancel cheque ) देना जरुरी है  |
  • Signature on White Paper – अगर आप ऑनलाइन डीमैट अकाउंट खोल रहे तो हस्ताक्षर को वेरीफाई करने के लिए कोरे कागज पर हस्ताक्षर करके उसकी फोटो को देना जरुरी है | ( upload image of Signature on White paper )
  • पासपोर्ट साइज फोटो भी आपको देना होगा |  passport size photo

 

What can I do with a Demat & Trading account?

You can dematerialize and invest in the following financial instruments through your HDFC securities Demat and Trading Account.

  • Equity – Find a range of convenient trading options in equities such as DIYSIP, e-Margin, Off market, Encash. These options give you a financial flexibility such as buy now pay later, getting funds from sale of stocks on the trading day as against T+2. Know More.
  • Initial Public Offer (IPO) – Apply in IPOs as per your convenience in few clicks or with a call. Track and analyze the forthcoming IPOs to make informed decision. Know More.
  • StockSIP – Tide through a volatile market by investing your money at regular intervals by adopting a disciplined strategy with a systematic investment plan. Through StockSIP, you can buy pre-specified quantity of stocks/units at regular intervals over a period of time. StockSIP option is available in stocks, Gold ETFs and Index ETFs. Know More.
  • Gold ETF – Available in small denominations, invest in dematerialized form of gold. Gold ETF are listed and traded just like stock. You can also avail the option of doing DIYSIP monthly in Gold ETF. Know More.
  • Bonds / NCDs – These instruments offer a higher rate of return. Invest in high rated Bonds and highly liquid NCDs. Know More.
  • Mutual Funds – Brace for a paperless investing experience in Mutual Funds. Purchase and redeem mutual fund units online just like stocks through your trading account. Know More.

Top Broker In India , Demat Account free for first year

एचडीएफसी ऑनलाइन सिक्योरिटीज  फुल टाइम सर्विस ब्रोकर

 

hdfc securites all in one

 

 

ZERODHA 

  • ZERODHA इस समय सबसे अच्छा,सबसे बड़ा और सबसे लोकप्रिय ब्रोकर है । वे एक उत्कृष्ट ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करते हैं, कम ब्रोकरेज शुल्क लेते हैं, और सबसे पारदर्शी स्टॉक ब्रोकर हैं।
  • इक्विटी डिलीवरी और म्यूचुअल फंड के लिए शून्य ब्रोकरेज शुल्क लेता है।
  • अधिकतम ब्रोकरेज शुल्क 20 रुपये प्रति ट्रेड है।
  • म्यूचुअल फंड खरीदने पर शून्य कमीशन ऑफर करता है।

आपको अगर ZERODHA के साथ डीमैट अकाउंट ओपन करना है तो आप निचे दी गए LOGO को क्लिक कर सकते है हम आपकी सहायता करेंगे |

 

और भी ब्रोकर भारत में  उपलब्ध है जैसे

Upstox – Discount Brokarage
  • सभी ट्रेडर जो बड़ी मात्रा में ट्रेड करते हैं और उच्च मार्जिन की तलाश करते हैं, वे अपस्टॉक्स पसंद करते हैं।
  • Upstox भी एक डिस्काउंट ब्रोकरेज फर्म है जो SEBI के साथ रजिस्टर है |
  • अधिकतम ब्रोकरेज शुल्क 20 रुपये प्रति ट्रेड है।
  • इक्विटी डिलीवरी और म्यूचुअल फंड के लिए शून्य ब्रोकरेज शुल्क लेता है।
  • Mr Ratan Tata, GVK Davis जैसे दिग्गज Upstox को फंडिंग करते है|

Angle One 

  • एंजेल वन लिमिटेड, जिसे पहले एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड के नाम से जाना जाता था, 1996 में स्थापित एक भारतीय स्टॉकब्रोकर फर्म है।
  • अधिकतम ब्रोकरेज शुल्क 20 रुपये प्रति ट्रेड है।
  • इक्विटी डिलीवरी और म्यूचुअल फंड के लिए शून्य ब्रोकरेज शुल्क लेता है।
  • एंजेल वन लिमिटेड फुल सर्विस ब्रोकिंग फर्म है |
  • एंजेल वन लिमिटेड क्लाइंट सपोर्ट सिस्टम और एप्लीकेशन बेस्ड सॉफ्टवेयर सिस्टम ट्रेडर के लिए सपोर्टिव साबित होता है |

 

 

और पढ़े – Learn More

 

Important facts about Budget India | बजट क्या होता है ?

केंद्रीय बजट क्या होता है?

 

  1. भारत का केंद्रीय बजट, जिसे भारत के संविधान के अनुच्छेद 112 में वार्षिक वित्तीय विवरण के रूप में भी जाना जाता है ,     (Annual Financial Statment)
  2. भारत का वित्तिय वर्ष 1 अप्रैल से शुरू होता है ,
  3. केंद्रीय बजट एक स्टेटमेंट होता है जो की गोवेर्मेंट द्वारा की गई सारी आमदनी और होने वाले खर्चो का ब्योरा होता है,आमदनी और खर्चो का ब्योरा इसेही बजट कहते है |
  4. केंद्रीय बजट अर्थव्यवस्था, ब्याज दर और शेयर बाजारों को प्रभावित करता है |
  5. ओमीक्रॉन के चलते इस बार हमेशा की तरह बजट दस्तावेजों की छपाई नहीं होगी। इसके बजाय इस बार सांसदों को बजट दस्तावेज डिजिटल स्वरूप में पेश किया जायेगा, इस साल सरकार पेपरलेस बजट(Paperless Budget ) पेश करेगी इसे ऑनलाइन बजट( Online Budget ) भी कह सकते है|
  6.  १ फेब्रुअरी को फिनान्स मिनिस्टर केंद्रीय बजट संसद में पेश करते है |
    केंद्रीय बजट अर्थव्यवस्था, ब्याज दर और शेयर बाजारों को प्रभावित करता है
  7. वित्त मंत्री कैसे खर्च करते है और पैसा कैसे निवेश करता है यह बजट पेश करने के बाद पता चलेगा और इसका शेयर मार्केट पर क्या असर होता है ये भी देखना होगा
  8. केंद्रीय बजट दो पार्ट में पेश किया जाता है

8.भारत का पहला बजट

  • भारत का पहला बजट  7 april  1860 में जेम्स विल्सन ने रखा था (Britain)
  • स्वतंत्र भारत का पहला बजट 1947 में R K RK शनमुखम चेट्टि
  • पहला गणतंत्र बजट 1950 में जॉन मथाई ने रखा था
  • भारत में सबसे ज्यादा बार बजट मोरार जी देसाई ने रखा (10 बार )

9.हलवा समारोह – यूनियन बजट से पहले इस समारोह का आयोजन किया जाता है ,यह समारोह एक महत्वपूर्ण कार्य शुरू करने से पहले कुछ मीठा खाने की भारतीय परंपरा के एक भाग के रूप में किया जाता है।बड़ी मात्रा में तैयार किया जाता है और इसमें शामिल अधिकारियों और सहायक कर्मचारियों को परोसा जाता है।

10.2017 में, केंद्र सरकार ने रेल बजट को केंद्रीय बजट में शामिल कर दिया. इस प्रकार से पहले से चली आ रही एक परंपरा खत्म हो गई

 

Never Loss Trading Strategy in Hindi | Trading ka Pahla Niyam 2022

 

 

 

Trending Topics , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *