January 12, 2022

Top 10 chart Patterns for trading | Low risk trading India 2022

Top 10 chart Patterns for trading | Low risk trading India 2022

शेयर बाजार में ट्रेडिंग के लिए टॉप 10 चार्ट पैटर्न 

  • Chart is Visual representation
  • चार्ट पैटर्न का उपयोग या तो रिवर्सल या कॉन्टीनुअशन संकेतों के रूप में किया जाता है
  • A chart pattern also called as  price pattern- चार्ट पैटर्न को प्राईज पैटर्न भी कहा जाता है
  • Chart pattern कोई दिशात्मक सुराग नहीं देते हैं इसलिए आपको ब्रेकआउट की तलाश करनी होगी
  • यह पैटर्न चार्ट पे आसानी से दिख जाते है और ये पैटर्न जब बनते है तो अच्छा रिस्क तो रिवॉर्ड रेश्यो मिलने की सम्भावना होती है

 

 Main category of Best chart Pattern for Trading –मुख्य श्रेणी सर्वश्रेष्ठ चार्ट पैटर्न ट्रेडिंग के लिए

  • Reversal chart Patterns – रिवर्सल चार्ट पैटर्न
  • Continuation chart Patterns – कॉन्टिनुएशन चार्ट पैटर्न
  • Bilateral Chart pattern – द्विपक्षीय चार्ट पैटर्न

Main Types of Best chart Pattern for Trading

Triangle chart patterns

Triangle chart patterns के निचे बताये हुवे महत्वपूर्ण तीन प्रकार है

  1. Ascending Triangle Chart pattern
  2. Descending Triangle Chart pattern
  3. Symmetrical  Triangle Chart pattern

1.Ascending Triangle Chart pattern-असेंडिंग ट्रैंगल चार्ट पॅटर्न 

  • जब चार्ट पर Higher Lows बनते है और ऊपर की तरफ Resistance (रेसिस्टेन्स) आने की वजेसे (flat )समतल टॉप बनता है ,तब ये पैटर्न दिखायी देता है|
  • यह चार्ट पैटर्न कॉन्टिनुएशन चार्ट पैटर्न प्रकार में आता है |
  • त्रिभुज की एक भुजा समतल होती हैं और एक भुजा कोण में झुकी होती हैं |
  • यह पैटर्न कॉन्टीनुअशन टाइप चार्ट पैटर्न में आता है|
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट ऊपर की तरफ होता है तो सही दिशा मिलती है |
  • असेंडिंग ट्रैंगल चार्ट पॅटर्न  इस पैटर्न में टारगेट , ट्रैंगल की तीसरी भुजा की लम्बाई इतना होता है जो रेड कलर में दिखाई दे रही है|

Descending Triangle Chart pattern- डिसेंडिंग ट्रैंगल चार्ट पैटर्न 

  • जब चार्ट पर Lower High बनते है और निचे की तरफ Support  आने की वजेसे (flat )समतल Bottom बनता है ,तब ये पैटर्न दिखायी देता है|
  • यह चार्ट पैटर्न कॉन्टिनुएशन चार्ट पैटर्न प्रकार में आता है |
  • त्रिभुज की एक भुजा समतल होती हैं और एक भुजा कोण में झुकी होती हैं |
  • यह पैटर्न कॉन्टीनुअशन टाइप चार्ट पैटर्न में आता है|
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट निचे की तरफ होता है तो सही दिशा मिलती है |
  • डिसेंडिंग ट्रैंगल चार्ट पैटर्न  इस पैटर्न में टारगेट , ट्रैंगल की तीसरी भुजा की लम्बाई इतना होता है जो रेड कलर में दिखाई दे रही है|

 

Symmetrical Triangle chart Pattern -सिमेट्रिकल ट्रैंगल चार्ट पैटर्न

  • जब चार्ट पर Higher low और Lower High बनते है , तब ये पैटर्न दिखायी देता है|
  • त्रिभुज की दो भुजाएँ एक ही कोण में झुकी होती हैं |
  • जैसे की आपको पता है , मार्केट में अभी कोई ट्रेन्ड नहीं चल रहा है|
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट निचे या ऊपर की तरफ हो सकता है |
  • सीमेट्रिकल ट्रैंगल चार्ट पैटर्न इस पैटर्न में टारगेट , ट्रैंगल की तीसरी भुजा की लम्बाई इतना होता है जो रेड कलर में दिखाई दे रही है|

Double Bottom Reversal Chart pattern

डबल बॉटम रिवर्सल चार्ट पैटर्न

  • डबल बॉटम रिवर्सल चार्ट पैटर्न को W -Bottom भी कहते है , क्यू की जब ये पैटर्न बनता है तो चार्ट पर W जैसा दीखता है
  • यह पैटर्न जब मार्केट डाउन ट्रेंड में यानि मंदी में होता है और यह पैटर्न बनता है तो मार्केट reversal का सिग्नल मिल सकता है
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के हाई के ऊपर ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के Low के निचे रख सकते है
  • टारगेट भी आप रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से रख सकते है|
  • यह पैटर्न जितने बड़े टाइम फ्रेम पे बनता है उतना ही विश्वसनीय होता है|

 

 

Double Top Reversal Chart pattern

डबल टॉप रिवर्सल चार्ट पैटर्न

  • डबल टॉप रिवर्सल चार्ट पैटर्न को M -Top भी कहते है , क्यू की जब ये पैटर्न बनता है तो चार्ट पर M जैसा दीखता है
  • यह पैटर्न जब मार्केट अप ट्रेंड में यानि तेजी में होता है और यह पैटर्न बनता है तो मार्केट reversal का सिग्नल मिल सकता है
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के Low के नीचे ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क
  • रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के High ​के निचे रख सकते है
  • टारगेट भी आप रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से रख सकते है|
  • यह पैटर्न जितने बड़े टाइम फ्रेम पे बनता है उतना ही विश्वसनीय होता है|

 

 

 

Head and Shoulder Reversal Chart Pattern –हेड एंड शोल्डर रिवर्सल चार्ट पैटर्न

 

  • हेड एंड शोल्डर रिवर्सल चार्ट पैटर्न यह पैटर्न जब मार्केट अप ट्रेंड में यानि तेजी में होता है और यह पैटर्न बनता है तो मार्केट reversal का सिग्नल मिल सकता है
  • इसे जो नाम दिया गया है वह इसलिए क्यू की यह इंसान के दो Shoulder यानि कंधे और head यानि सीर जैसी आकृति बनता है
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के Low के नीचे ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के High ​के निचे रख सकते है
  • टारगेट भी आप रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से रख सकते है|
  • यह पैटर्न जितने बड़े टाइम फ्रेम पे बनता है उतना ही विश्वसनीय होता है|

 

 

 

 

Inverted Head and Shoulder Reversal Chart Pattern- इनवर्टेड  हेड एंड शोल्डर रिवर्सल चार्ट पैटर्न

  • इनवर्टेड  हेड एंड शोल्डर रिवर्सल चार्ट पैटर्न यह पैटर्न जब मार्केट डाउन ट्रेंड में यानि मंदी में होता है और यह पैटर्न बनता है तो मार्केट reversal का सिग्नल मिल सकता है
  • यह हेड एंड शोल्डर रिवर्सल चार्ट पैटर्न से उल्टा होता है
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के हाई के ऊपर ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के Low ​के निचे रख सकते है
  • टारगेट भी आप रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से रख सकते है|
  • यह पैटर्न जितने बड़े टाइम फ्रेम पे बनता है उतना ही विश्वसनीय होता है|

 

Bullish Flag Continuation Pattern – बुलिश फ्लैग कॉन्टिनुएशन पैटर्न

  • यह पैटर्न जब मार्केट अप ट्रेंड में यानि तेजी में होता है और यह पैटर्न बनता है तो Trend कॉन्टिनुएशन का सिग्नल मिल सकता है|
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के हाई के ऊपर ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के Low ​के निचे रख सकते है|
  • टारगेट फ्लैग पोल की हाइट इतना रख सकते है या, आप रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से रख सकते है|

 

Inverted Flag Continuation Pattern – बेयरिश इनवर्टेड फ्लैग कंटीन्यूएशन पैटर्न

 

  • यह पैटर्न जब मार्केट डाउन ट्रेंड में होता है और यह पैटर्न बनता है तो Trend कॉन्टिनुएशन का सिग्नल मिल सकता है|
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के Low के निचे ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के High ​के उपर रख सकते है|
  • टारगेट फ्लैग पोल की हाइट इतना रख सकते है या, आप रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से रख सकते है|

Rising Wedge Chart Pattern (Bullish Reversal)राइजिंग वेज चार्ट पैटर्न (बुलिश रिवर्सल)

  • यह रिवर्सल पैटर्न है , शुरुआत में मार्किट अप ट्रेंड में होता है , फिर बढ़ने की कोशिश करता है लेकिन डाउन ट्रेंड सुरु होता है
  • इस पैटर्न में Higher High और Lower High बनते है , और स्टॉक या मार्केट की रेंज छोटी होती दिखाई देती है |
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के Low के नीचे ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के High ​के निचे रख सकते है|

 

 

Falling Wedge Pattern(Bearish Reversal) –फॉलिंग वेज पैटर्न (बेयरिश रिवर्सल)

  • यह रिवर्सल पैटर्न है , शुरुआत में मार्किट डाउन ट्रेंड में होता है |
  • इस पैटर्न में Lower High और Lower Low बनते है , और स्टॉक या मार्केट की रेंज छोटी होती दिखाई देती है |
  • इस पैटर्न में ब्रेकआउट होने तक इंतजार करना पड़ता है , ब्रेकआउट Candle के हाई के ऊपर ट्रेड लेना चाहिए और स्टॉपलॉस रिस्क
  • रिवॉर्ड रेश्यो के हिसाब से या ब्रेकआउट कैंडल के Low ​के निचे रख सकते है|

 

 

 

Learn Trading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *